मेरा आँगन

मेरा आँगन

Friday, November 5, 2010

दीपावली-सन्देश

दीपावली के इस खूबसूरत त्योहार के लिए सुख -समृद्धि और प्रेरणा का सन्देश लेकर  आ रही हैं -तीन संवेदनशील कवयित्रियाँ-डॉ भावना कुँअर , रचना श्रीवास्तव और मंजु मिश्रा , आस्ट्रेलिया ,  और अमेरिका  से । आशा है इनका सन्देश आपको जीवन में नई संकल्प शक्ति से समृद्ध करेगा। प्रस्तुति -रामेश्वर काम्बोज हिमांशु'

1-डॉ भावना कुँअर

रंगोली सजे
दीपों की रोशनी में
अँधेरा मिटे ।

जगमग है
दीपों की कतार से
 हरेक कोना ।

झूम रहे हैं
रंगीन कंदीलों से
घर-आँगन ।

हँसी रोशनी
जीत पर अपनी
अँधेरा रोया ।

करो रोशन
बुझते चिराग़ों को
 इस पर्व में ।
-0-
2-रचना श्रीवास्तव
स्नेह की ,उन्नति की ,ज्ञान की ,वैभव की रौशनी आप को और आप के पूरे परिवार को सदा महकाती रहे -

मस्ज़िद में जलूँ या मंदिर में
झोपड़ी में जलूँ या महल में
भजन में जलूँ या दरगाह पर
चौखट में जलूँ या राह पर
प्रेम गीत गुनगुनाऊँगा
मै दिया हूँ रौशनी फैलाऊँगा ।

-0-
3--मंजु मिश्र
"आँधियों की टक्करों में 
दीप कितने बुझ गए हों
पर भला कब हार माने
हैं, अँधेरों से उजाले  
एक दीपक फिर जला ले।"



-0-

14 comments:

राजकुमार ग्वालानी said...

हिन्दु, मुस्लिम, सिख, ईसाई
जब सब हैं हम भाई-भाई
तो फिर काहे करते हैं लड़ाई
दीवाली है सबके लिए खुशिया लाई
आओ सब मिलकर खाए मिठाई
और भेद-भाव की मिटाए खाई

DIMPLE SHARMA said...

बहुत अच्छा पोस्ट , आपको दीपावली की शुभकामनाये....
sparkindians.blogspot.com

Suman said...

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

प्रेम से करना "गजानन-लक्ष्मी" आराधना।
आज होनी चाहिए "माँ शारदे" की साधना।।

अपने मन में इक दिया नन्हा जलाना ज्ञान का।
उर से सारा तम हटाना, आज सब अज्ञान का।।

आप खुशियों से धरा को जगमगाएँ!
दीप-उत्सव पर बहुत शुभ-कामनाएँ!!
--
आपकी प्यारी सी पोस्ट की चर्चा
बाल चर्चा मंच पर भी है!
http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/11/27.html

anklet said...

wish u a happy diwali and happy new year

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं ....

संगीता पुरी said...

दीपावली का ये पावन त्‍यौहार,
जीवन में लाए खुशियां अपार।
लक्ष्‍मी जी विराजें आपके द्वार,
शुभकामनाएं हमारी करें स्‍वीकार।।

उपेन्द्र said...

बहुत अच्छी पोस्ट ...इस दीपावली के शुभ अवसर पर आपको सपरिवार हार्दिक शुभकामनाये

डॉ. हरदीप संधु said...

बहुत अच्छी पोस्ट .....
भावना कुँअर,रचना श्रीवास्तव और मंजु मिश्रा जी ने मिलकर बहुत ही अच्छा लिखा है......
बधाई !

निर्मला कपिला said...

देर से ब्लाग को खोज पाई मगर दीप तो हमेशा ही जलते रहने चाहिये बधाई और शुभकामनायें भी हर दिन के लिये हैं। भावना कुँार जी मंजू मिश्रा जी और रचना श्रीवास्तव जी की रचनायें बहुत अच्छी लगी। शुभकामनायें।

Akshita (Pakhi) said...

बहुत सुन्दर रही दीवाली...बधाई.

VIJAY KUMAR VERMA said...

बहुत अच्छी पोस्ट .....

muskan said...

sundar...

Subhashini said...

Hi
I love hindi alot cos I have studied completely in hindi in MP.When I saw your blog I remembered my school days.Very nice blog